टैबलेट क्या है | टैबलेट के फायदे और नुकसान क्या हैं | tablet kya hai in hindi

Rate this post

जब कंप्यूटर पहली बार अस्तित्व में आया था तो किसने सोचा था कि कंप्यूटर जैसा टेबल पर इस्तेमाल होने वाला डिवाइस आज लोगों के हाथ तक पहुंच जाएगा। जिस कंप्यूटर को एक जगह से दूसरे स्थान पर ले जाया नहीं जा सकता है उसे आज लैपटॉप और टैबलेट के रूप में गोद में रखकर उपयोग किया जा सकता है। कंप्यूटर और लैपटॉप के बारे में तो आपको हमने पहले ही जानकारी दे दी है लेकिन क्या आपको पता है की टैबलेट क्या हैं? टैबलेट के फायदे और नुकसान क्या है?

यदि आपको टैबलेट के विषय में ज्यादा जानकारी नही है तो आज के इस आर्टिकल के द्वारा हम आपको विस्तार से यही जानकारी प्रदान करेंगे की Tablet Kya Hai in Hindi वर्तमान में इस डिवाइस का इस्तेमाल भी काफी ज्यादा हो रहा है इसलिए जरूरी है की आपको इसके बारे में जानकारी होनी चाहिए क्योंकि बदलते समय के साथ लोगों को टेक्नोलॉजी के साथ खुद को आगे ले जाना जरूरी है। चलिए फिर जानते है की आखिर टैबलेट क्या है और टैबलेट के फायदे तथा नुकसान क्या हैं?

टैबलेट क्या हैं | tablet kya hai in hindi

लैपटॉप और स्मार्टफोन के कुछ–कुछ फीचर्स के संगम के साथ उपलब्ध टैबलेट एक सामान्य किताब के आकार का एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो वास्तव में कंप्यूटर से छोटा और मोबाइल से बड़ा होता है। यह वजन में भी कंप्यूटर से काफी ज्यादा हल्का और मोबाइल से थोड़ा भारी होता है। हालांकि इसके अंदर कुछ लैपटॉप/कंप्यूटर के फीचर और कुछ स्मार्टफोन के फीचर्स मौजूद होते है लेकिन दोनों में होने वाले सम्पूर्ण कार्य को टैबलेट अकेले नही कर सकता है। टैबलेट को टैब, टैबलेट कंप्यूटर और टैबलेट पीसी के नाम से भी जाना जाता हैं।

टैबलेट में एक 7 इंच तक का टच स्क्रीन डिसप्ले लगा होता गई और इसके साथ लैपटॉप की भांति कोई भौतिक कीबोर्ड नहीं जुड़ा होता है। टैबलेट का इस्तेमाल हाथों से वर्चुअल कीबोर्ड और डिजिटल पेन के द्वारा किया जाता है। यह आकार में छोटा होता है इसलिए इसे आसानी से किसी भी स्थान पर हाथ में पकड़कर या बैग में डालकर ले जाया जा सकता है। टैबलेट का डिजाइन मोबाइल की तरह स्टाइलिश नही होता है बल्कि यह एक बेसिक डिजाइन के साथ आता है। आप नीचे देख सकते हो टैबलेट कैसा दिखता है?

टैबलेट का इस्तेमाल आज के समय में काफी ज्यादा किया जाने लगा है। वर्तमान समय में एप्पल के टैबलेट काफी ज्यादा प्रचलित है। टैबलेट भी Android, IOS और  Windows जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ मार्केट में आते है। अधिकतर टैबलेट डिवाइस में USB पोर्ट भी मौजूद होते है जिसकी मदद से भौतिक कीबोर्ड को जोड़कर टैबलेट के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है। टैबलेट के बारे में जो भी मुख्य जानकारी थी वह हमने आपके साथ शेयर कर दी है। आइए अब इसके इतिहास के बारे में जानते हैं।

टैबलेट का इतिहास क्या हैं; What is History of Tablet in Hindi?

लैपटॉप से मिलते जुलते टैबलेट का सफर भी लैपटॉप के साथ आगे बढ़ रहा था और इसी सफर में आगे बढ़ते हुए Xerox में Alan Kay द्वारा 1971 में टैबलेट की रूपरेखा पहली बार तैयार की गई थी जिसके बाद PDAs के सहित कई सारे डिवाइस बनाए गए। लेकिन विश्व का सबसे पहला और सफल टैबलेट साल 2010 में Apple (एप्पल) कंपनी द्वारा बनाया गया था जिसे हम Apple iPad के नाम से जानते हैं।

आज के दौर में एप्पल के अलावा अन्य कई सारी मोबाइल कंपनियां भी आज टैबलेट बनाती है। एंड्रॉयड वर्जन वाले टैबलेट लगभग सभी मोबाइल कंपनियां बनाती है लेकिन विंडो वर्जन वाले टैबलेट केवल माइक्रोसॉफ्ट कंपनी द्वारा बनाया जाता है। इसके साथ IOS टैबलेट केवल और केवल एप्पल द्वारा बनाया जाता है। वर्तमान समय में एप्पल केवल IOS टैबलेट बनाता है और अन्य बाकी मोबाइल कंपनियां एंड्रॉयड वर्जन के ऊपर ही कार्य करती है।

टैबलेट में मुख्य भाग कौन–कौन से हैं?

टैबलेट क्या है? टैबलेट का इतिहास क्या है? यह तो हमने आपको बता दिया। अब आपको हम बताने वाले है की टैबलेट के मुख्य भाग कौन–कौन से हैं? टैबलेट की बनावट लगभग स्मार्टफोन की तरह ही होता है बस आकर में यह बड़ा होता है। अतः टैबलेट के विभिन्न मुख्य भागों के बारे में हमने निम्नलिखित रूप में जानकारी दी है।

1. ऑपरेटिंग सिस्टम

स्मार्टफोन की भांति ही टैबलेट में भी एंड्रॉयड, आईओएस और माइक्रोसॉफ्ट ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल होता है। सैमसंग, रीयलमी, रेडमी जैसी मोबाइल कंपनियां एंड्रॉयड OS का उपयोग करती है जबकि एप्पल IOS का इस्तेमाल करती है। इन सब ऑपरेटिंग सिस्टम की दौड़ में IOS सबसे आगे है।

2. बटन 

जिस तरह से एक स्मार्टफोन में दो वॉल्यूम बटन होते है जिसमे से एक आवाज बढ़ाने के लिए और एक आवाज कम करने के लिए होते है उसी प्रकार टैबलेट में भी दो वॉल्यूम बटन होते है। साथ ही एक पावर बटन होता है जिससे डिवाइस को On (बंद) और Off (चालू) किया जाता है।

3. डिजिटल पेन

स्मार्टफोन और टैबलेट दोनों ही टच स्क्रीन डिसप्ले के साथ आते है जिसकी वजह से इनको चलाने के लिए अतिरिक्त किसी उपकरण की जरूरत भी होती है परंतु कई सारे टैबलेट के साथ आज के समय में डिजिटल पेन दिया जाता है। यह पेन टैबलेट को चलाने के लिए उपयोग होता हैं।

4. हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर

नॉर्मल स्मार्टफोन की तरह ही एक टैबलेट में हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दो मुख्य भाग होते है। टैबलेट ने हार्डवेयर वह भाग होते है जिनको हम छू सकते है जैसे की बैटरी, वॉल्यूम बटन और स्क्रीन आदि। जबकि सॉफ्टवेयर वह भाग होते है जिनको हम छू नही सकते है और न ही देख सकते है जैसे की प्रोग्राम, एप्लीकेशन आदि।

टैबलेट के प्रकार कौन–कौन से हैं?

टैबलेट के मुख्य भागों के बारे में हमने आपको एक बेसिक जानकारी प्रदान कर दी है। इसके साथ ही हमने आपको टैबलेट के विभिन्न प्रकारों की सूची भी दी है।

  • Slate Tablet
  • Mini Tablet
  • Phablet
  • 2-in-1 अथवा Hybrid
  • Gaming Tablet
  • Booklet
  • Business Tablet

यह रहे टैबलेट के कुछ मुख्य प्रकार।

टैबलेट ने फायदे क्या–क्या हैं?

टैबलेट से जुड़ी अन्य सारी जानकारियां आपने जान ही ली है। अब हम आपको बताने जा रहे है एक टैबलेट पीसी के फायदे क्या–क्या होते हैं? हमने टैबलेट के विभिन्न फायदों का वर्णन निम्नलिखित प्रकार से किया है।

  • टैबलेट लैपटॉप और कंप्यूटर के मुकाबले आकार में छोटे होते है जिनकी वजह से इसे आसानी से कही भी लाया और ले जाया जा सकता है।
  • टैबलेट को इस्तेमाल करने के लिए किसी प्रकार के टेबल या कुर्सी की आवश्यकता नही पड़ती है क्योंकि यह इतने हल्के होते है की आसानी से इसे हाथों द्वारा स्मार्टफोन की भांति इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • लैपटॉप और कंप्यूटर की तरह कुछ टाइप करने के लिए आपको अलग से कीबोर्ड या माउस की जरूरत भी नहीं होती है क्योंकि यह टच स्क्रीन डिसप्ले के साथ आता है।
  • इसके साथ काफी सारे टैबलेट के साथ डिजिटल पेन भी दिया जाता है जिससे टैबलेट का इस्तेमाल करने का अनुभव और ज्यादा अच्छा हो जाता हैं।
  • टैबलेट की कीमत लैपटॉप और कंप्यूटर से काफी ज्यादा सस्ता होती हैं।
  • जैसे फीचर्स कंप्यूटर और लैपटॉप में मौजूद होते है वैसे ही कुछ सिमिलर फीचर टैबलेट में भी मौजूद होते हैं।
  • टैबलेट बिजली के साथ चलने वाला उपकरण नही है जिसे आपको इस्तेमाल करने के लिए बिजली बोर्ड के साथ लगाकर रखना होगा बल्कि यह बैटरी से चलने वाला उपकरण है जिसको आप चार्ज कर सकते हो मोबाइल की तरह।
  • यदि आप सोच रहे होंगे की टैबलेट को चलाने के लिए आपको किसी प्रकार के अलग स्किल की जरूरत पड़ेगी तो ऐसा बिलकुल भी नहीं हैं। जिस प्रकार आप एक स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हो ठीक उसी प्रकार से एक टैबलेट का इस्तेमाल किया जाता है।

यह रहे टैबलेट से जुड़े कुछ मुख्य फायदे जिनके बारे में हमने आपको अच्छे से जानकारी दे दी हैं। इसके अलावा आगे हमने टैबलेट के नुकसानों की व्याख्या की हैं।

टैबलेट के नुकसान क्या–क्या हैं?

ऊपर हमने आपको टैबलेट के फायदों के बारे में जानकारी दी है। आइए अब हम आपको बताते है की टैबलेट के नुकसान कौन–कौन से हैं?

  • हालांकि एक टैबलेट लैपटॉप और स्मार्टफोन के कुछ फंक्शन को मिलाकर बनाया गया डिवाइस होता है लेकिन एक टैबलेट में न तो मोबाइल के सारे फीचर उपलब्ध होते हैं और न ही लैपटॉप के।
  • स्मार्टफोन में जिस प्रकार से आप आसानी से फोटो खींचते हो, सेल्फी लेते हो वह सब मजा टैबलेट में नही मिलता है। यह साइज में बड़े होते है जिसकी वजह से सुविधाजनक रूप से फोटो खींचने में दिक्कत आती है।
  • टैबलेट की मदद से टाइपिंग करने का मजा भी नही आता है। यदि आप खुलकर टाइपिंग करना चाहते हो तो इसके लिए आपको अलग से कीबोर्ड जोड़ना होगा।
  • एक टैबलेट कुछ मुख्य कार्यों के लिए ही बनाया गया होता है जिसकी वजह से यदि आपको गेमिंग करनी है तो टैबलेट में इसका मजा बिलकुल भी नहीं आयेगा।
  • टैबलेट काफी ज्यादा हल्के होते है जिसकी वजह से यदि यह आपके हाथों से या किसी ऊंचे स्थान से गिरते है तो इसके टूटने का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही इसकी मरम्मत में भी काफी ज्यादा खर्चा आता है।

यह रहें सभी नुकसान एक टैबलेट के। उम्मीद है की आपको अच्छे से समझ में आ गया होगा कि टैबलेट के फायदे और नुकसान के बारे में।

सारांश

यदि आपने इस लेख को आखिर तक पढ़ा होगा तो टैबलेट क्या है और टैबलेट के फायदे तथा नुकसान क्या है? आपको अच्छे से समझ में आ चुका होगा। हमने इस लेख के द्वारा विस्तार से यह वर्णन किया है की टैबलेट क्या है? टैबलेट के प्रकार कौन–कौन से हैं? टैबलेट का इतिहास क्या है? टैबलेट के अंदर और बाहर मौजूद मुख्य भाग कौन–कौन से है? इसके अलावा भी अन्य चीजें आपके साथ शेयर की गई हैं।

आखिर में हमने टैबलेट के मुख्य फायदों और नुकसानों का जिक्र भी इस आर्टिकल में किया है। हम भी आपसे यह उम्मीद करते है की यह ब्लॉग पोस्ट आपको जरूर पसंद आया होगा। यदि आपको यह लेख वाकई में पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करिएगा ताकि अन्य लोगों को भी इसके बारे में जानकारी मिलें। साथ ही यदि आपके कोई सवाल हो लेख से जुड़े तो आप हमसे पूछ सकते हो।

ध्यान दें :- ऐसे ही एजुकेशनल और बिज़नेस  की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट pankajdograblog.com के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें । और साथ हमारे telegram channel को भी फॉलो करे
Telegram channel link = Follow me

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

आपके काम की अन्य पोस्ट:

ludo game kya hai

online shopping ke fayde aur nuksan in hindi

Technology kya hai

Sharing Is Caring:

मेरा नाम पंकज कुमार है और मुझे इस ब्लॉग के माध्यम से अपने ज्ञान को इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के साथ बांटना पसंद है। इस ब्लॉग के जरिए मैं टेक्नोलोजी से संबंधित जानकारियां शेयर करता हूं।

Leave a Comment