सिविल इंजीनियरिंग क्या होती है? सिविल इंजीनियर बनने के लिए क्या करें? Civil Engineering kya hoti hai.

नमस्कार, दोस्तों स्वागत है आपका मेरे नए blog जिसका नाम सिविल इंजीनियरिंग क्या होती है civil engineering kya hoti hai में दोस्तों इस दुनिया में विज्ञान के बिना दुनिया अधूरी सी लगती है आज दुनिया बहुत तेज गति से आगे बढ़ रही है इस आगे बढ़ते संसार में बहुत बड़ा योगदान कंस्ट्रक्शन कार्य और इंजीनियर का है |चलिए बात करते हैं।

इंजीनियरिंग क्या होती है? Engineering kya hoti hai.

दोस्तों वैसे तो इंजीनियरिंग कई प्रकार की होती है। जैसे कि इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग जिसमें की बिजली से जुड़े सिद्धांतों और विज्ञान के बारे में बताया जाता है, मैकेनिकल इंजीनियरिंग जिसमें की वाहन मशीनरी इत्यादि मैकेनिकल कार्यों से संबंधित ज्ञान होता है , इत्यादि
पर दोस्तों आज हम बात करेंगे। सिविल इंजीनियरिंग क्या होती है civil engineering kya hoti hai

दोस्तों आप माइनिंग इंजीनियरिंग क्या होती है? में भी जरूर पढ़े

सिविल इंजीनियरिंग क्या होती है? Civil Engineering kya hoti hai.

सिविल इंजीनियरिंग के बारे में दोस्तों सिविल इंजीनियरिंग दुनिया की सबसे पुरानी इंजीनियरिंग है।  बहुत पहले से ही सिविल इंजीनियरिंग विश्व भर में है।  जो कि गृह निर्माण ,सड़क, पुल ,डैम ,इत्यादि से जुड़ी हुई होती है | दोस्तों बिना सिविल इंजीनियरिंग के यह दुनिया मानो अधूरी सी है।

Civil Engineering kaise bane

सिविल इंजीनियर बनने के लिए क्या करें? Civil Engineering kaise bane.

अगर आप भी एक सिविल इंजीनियर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको इंजीनियरिंग का कोर्स करना होगा अगर आपने 10th पास की है तो आप डिप्लोमा कर सकते हैं जो कि 3 साल का होता है, इस डिप्लोमा कोर्स को करके आप एक जूनियर इंजीनियर बन जाते हैं |
डिप्लोमा करने के लिए आपको एआईसीटीई (A.I.C.T.E) द्वारा मान्यता प्राप्त किसी भी पॉलिटेक्निक संस्थान में एडमिशन लेनी होगी |

दोस्तों अगर आपको डिग्री करनी है तो आप 12वीं के बाद किसी भी मान्यता प्राप्त इंजीनियरिंग डिग्री कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन ले सकते हैं।  अगर आपने डिप्लोमा किया है तो आप सीधा सेकंड ईयर (2nd year) में जा सकते हैं।  वैसे तो डिग्री 4 साल की होती है परंतु अगर आपने डिप्लोमा (Diploma) किया है तो आपकी डिग्री 3 साल की होगी |

Civil Engineering

दोस्तों इंजीनियरिंग के इस कोर्स में आपको सर्वे , हाईवे इंजीनियरिंग, बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन , ब्रिज कंस्ट्रक्शन ,रेलवे, इत्यादि के बारे में पढ़ाया जाता है | सिविल इंजीनियरिंग करके आप किसी सरकारी नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं।  क्योंकि दोस्तों सबसे ज्यादा सरकारी नौकरी सिविल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में ही निकलती है।  अगर आप एक कांट्रेक्टर (Contractor) बनना चाहते हैं तो आप इंजीनियरिंग करके मान्यता प्राप्त कांट्रेक्टर बन सकते हैं |

जो भी लड़का या लड़की सिविल इंजीनियर बनना चाहता है उसके पास दो तरिके होते है जिससे वो सिविल इंजीनियर बन सकता है।

10वी पास करने बाद सिविल इंजीनियरिंग का (Diploma) कोर्स करके।

जब छात्र 10वी कक्षा की परीक्षा को पास कर जाता है तो जो भी सिविल इंजीनियर बनना चाहता है बो राज्य सरकार के Technical Education board द्बारा लिए जाने बाले Entrance एग्जाम दे सकता है। उस Entrance एग्जाम में मिलने बलि रँकिंग क आधार पर छात्रों का Selection किया जाता है। फिर उस Select किये छात्रों को एडमिशन मिलता है। कुछ ऐसे भी Pol technical collage होते है जिनको 10वी कक्षा के मार्क्स के आधार पर एडमिशन दे देते है।

10वी पास करने बाद सिविल इंजीनियरिंग का (Diploma) कोर्स करके।

एडमिशन मिल जाने के बाद उन छात्रों को 3 साल का Diploma in Civil Engineering की पढ़ाई करनी होती है उसके उन्हें Diploma मिल जाता है। जिसके बाद वह किसी भी जॉब में जूनियर इंजीनियर पद के लिए ज्वाइन कर सकते है

12वीं पास करने बाद सिविल इंजीनियरिंग में कैसे प्रवेश ले ?

दोस्तों अगर अपने 12वीं पीसीएम (P.C.M) अर्थात फिजिक्स ,केमिस्ट्री, मैथ, में की हुई है / नॉन मेडिकल में की हुई है तो आप इंजीनियरिंग में प्रवेश ले सकते हैं | दोस्तों इसके लिए आप प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज में भी दाखिला ले सकते हैं परंतु वहां fee बहुत ज्यादा होती है इसलिए अगर हो सके तो किसी सरकारी कॉलेज से इंजीनियरिंग करें वह आपके लिए बढ़िया रहेगा।
वैसे दोस्तों हाल ही में एआईसीटीई (AICTE) ने अपने RULES में बदलाव करने की घोषणा की है जिसमें कि अगर आपने 12वीं  किसी भी Stream में की है तो भी आप Engineering में प्रवेश ले सकते हैं।
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एआईसीटीई द्वारा ही सभी इंजीनियरिंग कॉलेज को मान्यता प्राप्त होती है A.I.C.T.E की फुल फॉर्म ALL INDIA COUNCIL OF TECHNICAL EDUCATION है।

दोस्तों ऐसा कॉलेज या यूनिवर्सिटी चुने जिसमें की अच्छी प्लेसमेंट (Placement) भी दी जाती हो। वैसे दोस्तों प्लेसमेंट से ज्यादा मायने आपकी पढ़ाई रखती है अगर आप पढ़ने में अच्छे हैं तो आप किसी भी अच्छे कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं।

JEE ADVANCED / JEE MAINS क्या होता है ?

दोस्तों आपने JEE MAINS / ADVANCED के बारे में तो सुना ही होगा दोस्तों अगर आप सरकारी अच्छे Engineering कॉलेज से अपनी डिग्री करना चाहते हैं तो आप इन EXAMS को दे सकते है।

JEE ADVANCED JEE MAINS

अगर आप JEE MAINS निकालते हैं तो आप एनआईटी (National Intuition of Technology ) N.I.T में प्रवेश पा सकते हैं , और अगर आप JEE ADVANCED निकालते हैं तो आप सीधा I.I.T ( INDIAN INSTUTION OF TECHNOLOGY ) में प्रवेश पा सकते हैं
आपको बता दें JEE की फुल फॉर्म होती है Junior Entrance exam.

सिविल इंजीनियरिंग के सेमेस्टर पाठ्यक्रम। Civil Engineering subjects list all semester.

दोस्तों बाकि अपने सुब कुछ जान लिया अब  जानते है की सिविल इंजीनियरिंग में कोन कोन से सेमेस्टर में कोन कोन से सब्जेक्ट्स होते है।

civil engineering syllabus

Semester 1 Semester 2
Chemistry Basic Electronics
Mechinecs Physics
Basic Electronics Mathematics 2
English for communication Engineering and Data Structure
Mathematics 1 Electrical technology
Electrical Technology Electrical Drawing and Graphics
Engineering Drawing and Graphics Introduction to manufacturing Processes
Introduction to Manufacturing Processes

 

Semester 3 Semester 4
Hydraulics Structural Analysis
Solid mechanics Traspotation Engimgeering
Water and Waste Water Engineering Surveying 1
Breadth 1 Surveying 2
Mathematics 3(Module 1) Water resources Engineering

 

 

Semester 5 Semester 6
Breadth 2 Project 1
Elective 1 Elective 2
Soil Mechanics & Founding Engineering Elective 3
Design or RC Structures Elective 4
Breadth (IT) Elective 5
Design of Steel Strutures

 

 

Semester 7 Semester 8
IT & CAD Application Project 3
Elective Breadth
Elective 4 Breadth 3
Project 2 Comprehensive Viva voce
Industrial Training/seminar

सिविल इंजीनियरिंग सैलरी। Civil Engineer ki salary kitni hoti hai.

दोस्तों अगर में सिविल इंजीनियर की सैलरी की बात करू तो एक सिविल इंजीनियर को प्राइवेट किसी भी कपय में 25000 रूपये से लेकर 30000 रूपये हो सकती है और कुछ सालो का अनुभब हो जाने के बाद सिविल इंजीनियर की सैलरी 100000 रूपये तक हो जाती है। इसके अलाबा एक सिविल इंजीनियर freely भी काम करता है इससे भी बो अच्छे पैसे कमाता है।

आप शहरों में अक्सर आप देखते होंगे। कि बड़े – 2 प्रोजेक्टों का काम builder और ठेकेदारों को दिया जाता है  कुछ अनुभब है अगर आप उनके टैलेंट के अनुसार काम कर सकते है तो आपको उनके अनुसार उन प्रोजेक्ट में काम मिल सकता है। और आजकल लोग अपने घरो को बनाने में ठेकेदारों को बोलते है तो आप भी उमके साथ मिलकर काम कर सकते है।

सरकारी कामो में सिविल इंजीनियर को sub- division ऑफिसर या फिर असिस्टेंट इंजीनियर के रूप में रखा जाता है। और वह भविष्य में chief Engineer बन सकते हो। इन पदों में काम करने बाले इंजीनियर को अल्लौंस भी दिते जाते है।

सिविल इंजीनियरिंग का क्या काम होता है? civil engineer ka kya kaam hota hai

दोस्तों अपने सिविल इंजीनियरिंग करने के बारे में सोच तो लिया है पर अगर आपको कोई पूछे की सिविल इंजीनियर का क्या काम होता है तो आपको पता होना चाहिए अगर नहीं तो कोई बात नहीं में बता देते है ताकि आपसे कोई भी पूछे तो आप उसको बता सके की एक सिविल इंजीनियर का क्या काम होता है।

  • ज्यादा समय बाले परियोजना, नक्शे, सर्वे  रिपोर्ट और दूसरे डाटा को अनलयस करना। ताकि उस प्रोजेक्ट को अच्छा प्लान और डिज़ाइन किया जा सके।
  • प्रोजेक्ट की सारी त्यारी हो जाने के बाद लोकल स्टेट या सुरक्षा विभाग को Parmit application जमा करना ताकि application verify हो सके। और वह प्रोजेक्ट सरकार के नियमो का पालन करते हुए चल रहा है।
  • प्रोजेक्ट की आर्थिक बजट का अनुमान लगाने के लिए Material, Equipment और labour पर होने बाले खर्च की estimate report त्यार करना।
  • बुनियाद मजबूत है  उसके लिए मिटटी पर किये टेस्ट को देखने और अच्छे से अबलोकन करना।

दोस्तों यह थे कुछ थोड़े से काम जितने मुझे पता है बाकि आप जिनका काम करते जायँगे आपको पता लगता जायेगा की एक अच्छे सिविल इंजीनियर के क्या क्या काम होते है।

आपकी राय

सिविल इंजीनियरिंग क्या होती है civil engineering kya hoti hai. तो दोस्तों अच्छे से मन लगाकर पढ़िए और मेहनत कीजिए ताकी आप भी समाज और देश को एक अच्छी सेवा दे सकें।

दोस्तों आशा करता हूं मेरा ब्लॉग आपको अच्छा लगा होगा। तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे और मुझे कमेंट करके भी बताये। या फिर इस जानकारी में कुछ कमी रह गयी है।  तो मुझे कमेंट कर्क जरूर बताये ताकि में उस कमी को पूरा कर सकूं।
धन्यवाद |

Leave a Comment

%d bloggers like this: