टेलीग्राफ का अविष्कार किसने किया | telegraph ka avishkar kisne kiya

हर युग के साथ, समय के साथ कई आविष्कार आए और चले गए। ऐसा ही एक आविष्कार है टेलीग्राफ का नाम, जो आज भले ही इस्तेमाल में न हो, लेकिन एक समय था जब यह बहुत काम का हुआ करता था। ऐसे में टेलीग्राफ के बारे में कुछ जानकारी प्राप्त करना फायदेमंद हो सकता है, तो आइए जानते हैं कि टेलीग्राफ क्या है? और telegraph ka avishkar kisne kiya

आज से बहुत पहले, एक स्थान से दूसरे स्थान पर संदेश भेजने के लिए ड्रम का उपयोग किया जाता था या कबूतरों के साथ संदेश एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजा जाता था, लेकिन टेलीग्राफके आविष्कार ने संदेश भेजने की प्रक्रिया को बेहतर बना दिया। पहले से कहीं ज्यादा बेहतर और आसान बना दिया। दूर-दूर तक संदेश भेजना टेलीग्राफी कहलाता है। टेलीग्राफ एक ग्रीक शब्द है जिसका मतलब होता है दूर से लिखना। 

आजकल बिजली द्वारा संदेश भेजने की एक तकनीक को टेलीग्राफ सिस्टम कहा जाता है और इस प्रकार संदेश भेजने को टेलीग्राफ कहा जाता है। हम सभी जानते हैं कि शब्दों का उपयोग सूचनाओं और संदेशों को व्यक्त करने के लिए किया जाता है जो अक्षरों और अक्षरों से बने होते हैं। टेलीग्राफ प्रणाली में इन अक्षरों/वर्णों को संकेतों के कई संयोजनों में दर्शाया जाता है और इस प्रकार संकेतों में अक्षरों का प्रतिनिधित्व टेलीग्राफ कोड कहलाता है।

संदेश भेजते समय, टेलीग्राफ कोड की सहायता से, संदेश को एक संकेत में परिवर्तित किया जाता है और वर्तमान तत्वों (विद्युत प्रवाह का हिस्सा) को तार की पंक्तियों में भेजा जाता है। संदेश प्राप्त करने के बजाय, इन संकेतों को संदेश में परिवर्तित किया जाता है और संदेश सही जगह पर प्राप्त होता है। टेलीग्राफ के बारे में अधिक जानकारी के लिए हम कुछ अहम  सवालों को जानने की कोशिश करेंगे कि टेलीग्राफ क्या है?  टेलीग्राफ  का आविष्कार किसने किया था?

टेलीग्राफ क्या है? telegraph kya hai

टेलीग्राफी एक प्रकार की लंबी दूरी की संचार प्रणाली है जहां शब्दों के बजाय  कोड का उपयोग किया जाता है। टेलीग्राफ की अपनी एक किताब होती है, जिसमें सभी प्रकार के प्रतीकों की जानकारी लिखी जाती है और उसी कोड से व्यक्ति उसमें न संदेश से अवगत हो जाता है। ऑप्टिकल टेलीग्राफ शुरू में व्यापक रूप से फ्रांसीसी वैज्ञानिक क्लाउड चैप्पे द्वारा उपयोग किया गया था, जिसका उपयोग 18 वीं शताब्दी के अंत में किया गया था। इसका व्यापक उपयोग यूरोप में नेपोलियन युग के दौरान शुरू हुआ।

 यह 19वीं शताब्दी थी जब इलेक्ट्रॉनिक टेलीग्राफ पेश किया गया था। इस प्रणाली को पहली बार ब्रिटेन में पेश किया गया था और इसे पहली बार रेल संचार प्रणाली में इस्तेमाल किया गया था। इसका उपयोग रेलवे में दुर्घटनाओं आदि को रोकने के लिए किया जाता था। टेलीग्राफ संदेशों को टेलीग्राफ के रूप में जाना जाता था। ब्रिटेन द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली टेलीग्राफ तकनीक कुक और व्हिटस्टोन द्वारा विकसित की गई थी।

टेलीग्राफ का अविष्कार किसने किया? telegraph ka avishkar kisne kiya

टेलीग्राफ का आविष्कार सैमुएल मोर्स ने  किया है 

सैमुएल मोर्स के दिमाग में यह विचार आया कि विद्युत्‌ की शक्ति से भी समाचार भेजे जा सकते हैं। इस दिशा में सर्वप्रथम प्रयोग स्कॉटलैंड भी समाचार भेजे जा सकते हैं। इस दिशा में सर्वप्रथम प्रयोग स्कॉटलैंड के वैज्ञानिक डॉ॰ माडीसन से सन्‌ 1753 में किया। इसको मूर्त रूप देने में ब्रिटिश वैज्ञानिक रोनाल्ड का हाथ था, जिन्होने सन्‌ 1838 में तार द्वारा खबरें भेजने की व्यावहारिकता का प्रतिपादन सार्वजनिक रूप से किया। 

रोनाल्ड ने तार से खबरें भेजना संभव कर दिखाया, किन्तु आजकल के तारयंत्र के आविष्कार का अधिकाश श्रेय अमरीकी वैज्ञानिक, सैमुएल एफ॰ बी॰ मॉर्स, को है, जिन्होने सन्‌ 1844 में वाशिंगटन और बॉल्टिमोर के बीच तार द्वारा खबरें भेजकर इसका सार्वजनिक रूप से प्रदर्शन किया।

टेलिग्राफ युनानी भाषा का शब्द है, जिसका अर्थ होता है दूर से लिखना। आजकल विद्युतद्वारा संदेश भेजने की इस पद्धति को तार प्रणाली तथा इस प्रकार समाचार भेजने को तार (telegram) करना या भेजना कहते है।

टेलीग्राफ का आविष्कार

टेलीग्राफ एक ऐसी मशीन है जो इलेक्ट्रॉनिक रूप से तारों की एक प्रणाली के साथ एक संचरण बिंदु से एक अलग स्थान पर प्राप्त करने वाले बिंदु तक संदेशों को प्रसारित करती है। टेलीग्राफ ने त्वरित संचार की अनुमति दी जो कभी असंभव था। टेलीग्राफ ने अधिक से अधिक आर्थिक और व्यक्तिगत अवसरों और संबंधों को विकसित करने में सक्षम बनाया।

यूरोप और अमेरिका में रेल प्रणालियों के विकास के साथ, संदेशों को प्रसारित करने और संचार करने की आवश्यकता तेजी से बढ़ी। टेलीग्राफ से पहले, संचार केवल एक तेज़ ट्रेन या घोड़े जितना तेज़ हो सकता था। आविष्कार के बाद, स्थान और समय की कमी ने किसी व्यक्ति या संगठन को समय पर और कुशल तरीके से संवाद करने से नहीं रोका।

1830 के दशक के दौरान, एक आविष्कारक सैमुअल मोर्स ने एक संचार प्रणाली विकसित की जो एक तार नेटवर्क के साथ इलेक्ट्रॉनिक दालों को भेजकर काम करती थी। ये इलेक्ट्रॉनिक दालें अब प्रसिद्ध “मोर्स कोड” में विकसित होंगी। उनकी प्रणाली ने वर्णमाला के प्रत्येक अक्षर के लिए एक “डॉट या डैश” इलेक्ट्रॉनिक आवेग के अनुरूप एक तरीका तैयार किया, जिसे सीखने पर, रिसीवर को आसानी से दिखाई दे सकता था। है

इस अभूतपूर्व आविष्कार को टेलीग्राफ के रूप में जाना जाने लगा और इसने आधुनिक अंतर्राष्ट्रीय संचार नेटवर्क का आधार बनाया। टेलीग्राफ ने क्रांति ला दी कि कंपनियों को कैसे चलाया जाता है और युद्ध कैसे लड़े जाते हैं, और लोगों को भौगोलिक स्थिति की परवाह किए बिना और भी करीब आने की अनुमति दी। यद्यपि 21वीं सदी में टेलीग्राफ एक आदिम बन गया है, इसने आधुनिक टेलीफोन और इंटरनेट सिस्टम के लिए मार्ग प्रशस्त किया है जिस पर हम आज भरोसा करते हैं।

FAQs

Q1:- भारत में पहली टेलीग्राफ लाइन कहाँ से बिछाई गई थी?

Ans:- भारत में पहली टेलीग्राफ लाइन डायमंड हार्बर और कोलकाता के बीच बिछाई गई थी। 1834 में, दुनिया की पहली टेलीग्राम सेवा इंग्लैंड के पैडिंगटन (लंदन) स्टेशन से बर्किंघमशायर में स्लो तक शुरू की गई थी। हमारे देश की पहली टेलीग्राफ लाइन 1851 ई. में कोलकाता और डायमंड हार्बर के बीच शुरू हुई थी। ब्रिटिश सरकार इसके माध्यम से अपने सारे दस्तावेज भेजती और मंगवाती थी। आजादी के बाद भी लोगों ने इसका भरपूर फायदा उठाया। 

Q2:-  भारत में अंतिम टेलीग्राम कब भेजा गया?

Ans- डाक विभाग ने 14 जुलाई 2013 से टेलीग्राफ सेवा बंद कर दी थी।

Q3:- टेलीग्राफ का आविष्कार कब किया गया?

Ans:-  सैम्युअल मोर्स, इन्होने सन्‌ 1844 में वाशिंगटन और बॉल्टिमोर के बीच तार द्वारा खबरें भेजकर  इसका सार्वजनिक रूप से प्रदर्शन किया।

सारांश

हेलो दोस्तो , आज हमने इस लेख के माध्यम से आप सभी को टेलीग्राफ क्या है? टेलीग्राफ  का आविष्कार किसने किया था? telegraph ka avishkar kisne kiya के बारे में जानकारी देने की कोशिश की है। हम आशा करते हैं कि यह लेख आपको पसंद आया होगा। यदि इस लेख से संबंधित कोई भी प्रश्न हो तो आप कमेंट करके हमसे पूछ सकते हो।

 

ध्यान दें :- ऐसे ही एजुकेशनल और बिज़नेस  की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट pankajdograblog.com के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें । और साथ हमारे telegram channel को भी फॉलो करे
Telegram channel link = Follow me

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

आपके काम की अन्य पोस्ट:

Bootable Pendrive Kaise Banaye

printer ka avishkar kisne kiya

CPU ka avishkar kisne kiya

Sharing Is Caring:

मेरा नाम पंकज कुमार है और मुझे इस ब्लॉग के माध्यम से अपने ज्ञान को इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के साथ बांटना पसंद है। इस ब्लॉग के जरिए मैं टेक्नोलोजी से संबंधित जानकारियां शेयर करता हूं।

1 thought on “टेलीग्राफ का अविष्कार किसने किया | telegraph ka avishkar kisne kiya”

Leave a Comment