Chat GPT Kya Hai और यह कैसे काम करता है (फायदे, नुकसान, इतिहास, इस्तेमाल)

Chat GPT Kya Hai in Hindi : तारीख 30 नवंबर 2022 को लॉन्च हुए Chat GPT के विषय में टेक्नोलॉजी से संबंध रखने वाला हर एक व्यक्ति अपनी अपनी राय प्रस्तुत कर रहा है। किसी का कहना है की चैट जीपीटी के आगमन से इंसानी नौकरियां समाप्त हो जाएंगी तो कई लोगों का मानना है की Chat GPT इंटरनेट की दुनिया से Google का अस्तित्व मिटा देगा। लेकिन असल में इसकी असलियत क्या है इसके बारे में बहुत ही कम लोगों को जानकारी है।

इसीलिए आज के इस लेख के माध्यम से हम आप सभी को Chat GPT के विषय में विस्तारपूर्वक समझाने जा रहे हैं। इस लेख के द्वारा Chat GPT in Hindi के विषय में में आपको निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दिए जायेंगे :

  • Chat GPT क्या है?
  • Chat GPT काम कैसे करता है? 
  • Chat GPT के फायदे क्या है? 
  • Chat GPT के नुकसान क्या है?
  • Chat GPT का इस्तेमाल कैसे करें?

इसके अलावा भी Chat GPT के विषय में कुछ अन्य जानकारियों के बारे में इस लेख में बताया जायेगा जिससे आपको Chat GPT Kya Hai अच्छे से समझ में आ सके।

चैट जीपीटी क्या है | Chat GPT Kya Hai In Hindi?

Chat GPT एक Open AI Chatbot है जिसका पूरा नाम Chat Generative Pre-Trained Transformer है तथा जिसे Open AI कंपनी द्वारा बनाया गया है। यह चटबोट आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के ऊपर आधारित है। Open AI द्वारा विकसित यह एक अत्याधुनिक प्राकृतिक भाषा प्रसंस्करण मॉडल है। मॉडल को संवादात्मक डेटा के विशाल डेटासेट पर प्रशिक्षित किया गया है और यह प्रश्नों और संकेतों की एक विस्तृत श्रृंखला के लिए मानव-जैसी प्रतिक्रियाएँ उत्पन्न करने में सक्षम है। 

यानी इस चटबॉट से कोई भी सवाल इसके यूजर्स पूछ सकते है जिसका उत्तर यह Text Form में में देता है। तारीख 30 नवंबर 2022 को Chat GPT को सभी इंटरनेट यूजर्स के लिए एक पोटोटाइप के रूप में लॉन्च किया था और Open AI के सीईओ CEO Sam Altman ने बताया की महज एक हफ्ते के अंदर ही Chat GPT का इस्तेमाल करने वाले उपयोगकर्ताओं की संख्या 1 मिलियन के पार जा पहुंची थी।

ChatGPT ट्रांसफॉर्मर आर्किटेक्चर पर आधारित है, जिसे Google शोधकर्ताओं द्वारा 2017 के पेपर में पेश किया गया था। ट्रांसफॉर्मर आर्किटेक्चर एक गहन शिक्षण मॉडल है जिसे पाठ जैसे अनुक्रमिक डेटा को संभालने के लिए डिज़ाइन किया गया है। ट्रांसफार्मर आर्किटेक्चर का प्रमुख कार्य ध्यान तंत्र है, जो भविष्यवाणियां करते समय मॉडल को इनपुट के विभिन्न भागों के महत्व को समझें की अनुमति देता है।

ChatGPT की सबसे प्रभावशाली विशेषताओं में से एक इसकी मानव जैसी प्रतिक्रिया उत्पन्न करने की क्षमता है। मॉडल एक वार्तालाप के संदर्भ को समझने में सक्षम है और उचित प्रतिक्रिया उत्पन्न करता है जो प्रासंगिक और व्याकरणिक रूप से दोनों सही हैं। इसके अतिरिक्त, चैटजीपीटी रचनात्मक प्रतिक्रियाएँ भी उत्पन्न कर सकता है, जैसे चुटकुले, कहानियाँ और यहाँ तक कि कविता भी।

चैट जीपीटी का इतिहास | History of Chat GPT 

साल 2015 में Sam Altman नामक व्यक्ति ने एलोन मस्क के साथ मिलकर चैट जीपीटी के प्रोजेक्ट पर मिलकर काम करना शुरू किया था। शुरुआत में जब चैट जीपीटी पर काम शुरू किया था तब यह एक नॉन प्रॉफिट कंपनी थी लेकिन एलोन मस्क के द्वारा 2 सालों के अंदर इस प्रॉजेक्ट को छोड़ दिया गया था। 

लेकिन बाद में बिल गेट्स की कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा इस कंपनी में भारी मात्रा में पैसा निवेश किया गया था। जिसके पश्चात तारीख 30 नवंबर 2022 को Chat GPT को एक प्रोटोटाइप में इंटरनेट की दुनिया में लॉन्च किया गया था। Open AI कंपनी के सीईओ के अनुसार लॉन्च से लेकर अभी तक 20 मिलियन से अधिक इंटरनेट यूजर्स ने Chat GPT तक अपनी पहुंच बना ली है।

Chat GPT के फायदे क्या है | Advantages of Chat GPT in Hindi 

हमने यहां पर चैट जीपीटी के कुछ मुख्य फायदों के बारे में जानकारी प्रदान की है।

  • उच्च गुणवत्ता वाले अनुवाद उत्पन्न करने के लिए चैटजीपीटी को का उपयोग किया जा सकता है, जो विभिन्न प्रकार के अनुप्रयोगों में उपयोगी हो सकता है, जैसे ई-कॉमर्स या ग्राहक सेवा। इसका अर्थ है की एक भाषा को दूसरे भाषा में बदलने के लिए उपयोग किया जा सकता है।
  • यदि आप एक कंटेंट राइटर है तो आप चैट जीपीटी के द्वारा बहुत ही कम समय में विभिन्न विषयों पर लेख तैयार कर सकते हो। एक कंटेंट राइटर के रूप में आप इस तरह से चैट जीपीटी का इस्तेमाल करके पैसे कमा सकते हो।
  • इसके अलावा कोई भी व्यक्ति चैट जीपीटी से किसी भी तरह का सवाल पूछ सकता है जिसका जवाब यूजर को कुछ ही मिनट में मिल जायेगा।
  • इन सबके साथ यदि आप कोई एप्लीकेशन लिखना चाहते हो, स्क्रिप्ट लिखना चाहते हो, ईमेल लिखना चाहते हो, बायोग्राफी लिखना चाहते तो Chat GPT इसमें भी आपकी मदद कर सकता है।
  • चैट जीपीटी का इस्तेमाल बिलकुल फ्री में किया जा सकता है।
  • चैट जीपीटी पर किसी भी विषय के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हो। जिस तरह से आपको गूगल पर अलग अलग वेबसाइट पर अपने सवालों के जवाब जानने के लिए जाना पड़ता है उस प्रकार आपको किसी भी अन्य वेबसाइट पर जाना नही पड़ता है।

Chat GPT के नुकसान क्या है | Disadvantages of Chat GPT in Hindi 

चैट जीपीटी के कुछ नुकसान भी है जिनके बारे के आपको जरूर जानना चाहिए।

  • Chat GPT केवल उन्हीं सवालों के जवाब दे सकता है जिस सवाल के जवाब उसके डेटाबेस में मौजूद हो।
  • Chat GPT अभी केवल अंग्रेजी भाषा को बेहतर तरीके से समझता है। हिंदी और अन्य भाषाओं को अभी इसके लिए समझ पाना अभी पूरी तरह से संभव नही है।
  • कई सारे सवाल ऐसे भी होते है जिनका जवाब चैट जीपीटी के लिए स्पष्ट रूप से उत्तर दे पाना संभव नहीं है।
  • चैट जीपीटी एक AI प्रोग्राम है जिसके चलते यह मानवीय भावनाओं को नही समझ सकता है।
  • सिर्फ रिसर्च करने के लिए ही Chat GPT की सेवाएं फ्री है उसके बाद इसके अन्य सुविधाओं का उपयोग करने के लिए आपको चार्ज देना पड़ेगा।

Chat GPT का उपयोग कैसे करें | How To Use Chat GPT?

जिस तरह से अन्य वेबसाइट की सेवाओं का उपयोग करने के लिए आपको अपना अकाउंट बनाना पड़ता है ठीक उसी तरह से आपको भी Chat GPT पर अपना अकाउंट बनाना होगा। अभी तो चैट जीपीटी का इस्तेमाल आप फ्री में कर सकते हो लेकिन भविष्य में हो सकता है की आपको प्रीमियम का भुगतान करना पड़ें।

Step 1 :– सबसे आप Chat.Openai.Com की आधिकारिक वेबसाइट को आप क्रोम ब्राउजर में ओपन कर लीजिए।

Step 2 :– यहां दिए Sign In और Sign Up के दो विकल्पों में से आपको Sign Up के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

Step 3 :– ईमेल एड्रेस, माइक्रोसॉफ्ट अकाउंट या फिर Gmail ID के द्वारा आप Chat GPT पर अपना अकाउंट बना सकते हो। Chat GPT में अकाउंट जीमेल आईडी द्वारा बनाने के लिए आपको Continue With Google के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

Step 4 :– इसके बाद आपको उस जीमेल आईडी को सेलेक्ट करना होगा जिससे आप अपना अकाउंट बनाना चाहते हो।

Step 5 :– अब आगे आपको अपना नाम और फोन नंबर भरना होगा फिर Continue पर क्लिक कर देना है।

Step 6 :– अब आपके फोन नंबर को वेरिफाई करने के लिए आपके फोन पर OTP भेजा जाएगा जिसे भरना होगा और अपना फोन नम्बर वेरिफाई करना होगा।

Step 7 :– इसके बाद जैसे ही आपका फोन नंबर वेरिफाई हो जायेगा तो आपका अकाउंट Chat GPT में बन जायेगा जिसके बाद आप Chat GPT का इस्तेमाल कर सकते हो।

इस तरह से आप Chat GPT का इस्तेमाल आसानी के साथ कर सकते हो।

क्या चैट जीपीटी के अंदर गूगल को पीछे छोड़ने की क्षमता है?

जैसे ही चैट जीपीटी ने इंटरनेट की दुनिया में कदम रखा तो बहुत सारे इंटरनेट यूजर्स के मन में यह बात खटने लगी की क्या गूगल को चैट जीपीटी पीछे छोड़ देगा? क्या चैट जीपीटी में इतनी क्षमता है की यह गूगल को टक्कर दे सकता है? अतः इसके जवाब में हम कहना चाहेंगे की काफी रिसर्च करने के बाद और Chat GPT के बारे में विस्तार से जानने के बाद हमने जाना की चैट जीपीटी गूगल को पीछे नही छोड़ पाएगा।

ऐसा इसलिए क्योंकि चैट जीपीटी के द्वारा जिन भी सवालों के जवाब दिए जाते है वह गूगल पर मौजूद ब्लॉग और वेबसाइट में लिखित डाटा को आधार बनाकर ही दिया था। इसके साथ यह सिर्फ उन्ही सवालों के जवाब दे सकता है जिन सवालों के जवाब Chat GPT के डेटाबेस में स्टोर होता हैं। इसके साथ अभी तक चैट जीपीटी के पास लिमिटेड मात्रा में डाटा मौजदू है जिसके चलते यूजर्स की हर एक समस्या का समाधान इसके पास नही है।

Chat GPT क्या है – FAQs

Q.1 Chat GPT का फुल फॉर्म क्या है?

Ans :– Chat Generative Pre-Trained Transformer ही Chat GPT का Full Form है।

Q.2 Chat GPT क्या है?

Ans :– Chat GPT, Open AI कंपनी द्वारा निर्मित आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर आधारित एक ChatBot है। इस चटबॉट से कोई भी सवाल इसके यूजर्स पूछ सकते है जिसका उत्तर यह Text Form में में देता है। तारीख 30 नवंबर 2022 को Chat GPT को यूजर्स के लिए एक पोटोटाइप के रूप में लॉन्च किया था और Open AI के सीईओ CEO Sam Altman ने बताया की महज एक हफ्ते के अंदर ही Chat GPT का इस्तेमाल करने वाले उपयोगकर्ताओं की संख्या 1 मिलियन के पार जा पहुंची थी।

Chat GPT in Hindi : सारांश

इस लेख में आज हमने आपको विस्तार से Chat GPT AI के बारे में जानकारी प्रदान की है। इस लेख के अंतर्गत आपको Chat GPT क्या है? Chat GPT काम कैसे करता है? Chat GPT के फायदे क्या है? Chat GPT के नुकसान क्या है? आदि प्रश्नों के उत्तर विस्तार से दिए गए हैं। उम्मीद करते है की आपको यह संपूर्ण लेख जरूर पसंद आया होगा। यदि लेख पसन्द आए तो इसे शेयर जरुर करें।

Rate this post
Sharing Is Caring:

मेरा नाम पंकज कुमार है और मुझे इस ब्लॉग के माध्यम से अपने ज्ञान को इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के साथ बांटना पसंद है। इस ब्लॉग के जरिए मैं टेक्नोलोजी से संबंधित जानकारियां शेयर करता हूं।

Leave a Comment